Achihealth

Best Health and Beauty Tips in Hindi

Hair fall solution in ayurveda in hindi-reason of hair fall in hindi

Hair fall solution in ayurveda in hindi

“Hair fall solution in ayurveda in hindi” नमस्कार दोस्तों आपका हमारी वेबसाइट achihealth पर आने के लिए धन्यवाद आज हम hair fall solution in ayurveda in hindi के बारे में जानेंगे।

आप सब जानते हैं हमारी personality को बढ़ाने में हमारे सुन्दर hairs का बहुत ही बड़ा योगदान है, हम लोगो के बीच बालो का झंडना बहुत ही आम हो गया है।  हम बालो के झड़ने को रोकने के लिए  उपाय हमेशा ढूंढते रहते हैं और साथ-साथ अपने ऊपर प्रयोग भी करते रहते हैं, परन्तु हमारे हाथ कोई सफलता नहीं लगती।

अगर हमारे hairs fall होना एक बार शुरू हो जाए तो उसको रोकना बहुत  ही मुश्किल सा लगता है , परन्तु अगर आप हमारे दिए हुए लेख hair fall solution in ayurveda in hindi  को ध्यान से पढ़  कर अपने ऊपर लागु करोगे तो आपको बालो के  झड़ने की समस्या से जल्द ही समाधान मिलेगा।

चलो आगे बढ़ते है और जानते है कुछ ayurvedic treatment for hair loss and regrowth in hindi किसी भी बीमारी का इलाज ढूंढ़ने के लिए हमे उसके कारन के बारे में जानना होगा और hair loss प्रॉब्लम  किसी बीमारी से कम नहीं लगती।

ayurvedic treatment for hair loss and regrowth in hindi

or

hair fall treatment in hindi


hair fall solution in ayurveda in hindi

reason of hair fall in hindi-:

  • Diet -: हमारे बालो को काले व घने रखने में विटामिन्स व् मिनरल्स का बहुत ही बढ़ा योगदान है, आपने अपने बालो के लिए ऐसे बहुत से प्रोडक्ट प्रयोग किये होंगे जो विटामिन “E ” में रिच होते है।  क्योकि  E  हमारे बालो को सुन्दर व मजबूत रखने में सहयता करता है।

 आज कल के बदलते लाइफ स्टाइल की वजह से हम बहुत से लाभदयक तत्व को अपनी डाइट में शामिल नहीं कर पा रहे है जिसका       नुकसान  हमे अपने जड़ते बालो के रूप में भुगतना पड़ता है. अगर आप इस समस्या से निजात पाना चाहते है तो अपनी  डाइट में कुछ   सुधार  कीजिये। Vitamins , Protein , Minerals को निरंतर लेते रहे।

  • Telogen Effluvium -: यह बालो की जड़ने की समस्या का एक बहुत ही बड़ा रीज़न है। दोस्तों यह सिथति तनाव , प्रेग्नन्सी या किसी बढ़े ऑपरेशन के बाद आती है. अगर आप लभे समय से किसी दवाई का इस्तेमाल कर रहे है तब भी आप इस समस्या से ग्रस्त हो सकते है। यह किसी दवाई के साइड्स इफ़ेक्ट की वजह से भी हो सकता है। इसको रोकने के लिए आप अपने नजदीकी स्किन स्पेस्लिस्ट से संपर्क करे।
  • Genetics or heredity -:अगर आपके  परिवार में कोई पहले से ही इस समस्या से गुजर रहा है मतलब सीधी-सीधी भाषा में कहा जाये अगर आपके पिता के सर पर कम बाल है तो यह समस्या आप में भी हो सकती है। माता पिता के गुण उनके बच्चे में सीधे-सीधे आ जाये जैसे हाइट, स्किन कलर उसी को हम heredity कहते है। hair loss जैसी समस्या लड़को में अधिक देखी जाती है क्योकि यह (sex linked ) y gene पर होती है जिसकी वजह से लड़कियों पर इसका असर कम पड़ता है।
  • use of chemical -:  आज कल  हम अपने आप को सुन्दर दिखाने के लिए अपने बालो को नुकसान पहुंचा रहे है। हम बालो को धोने के लिए तरह-तरह के केमिकल वाले शैम्पू और प्रोडक्ट्स को अधिक बड़वा दे रहे है,  जिसका असर हमने अपने बालो को खो कर भुगतना पड़ता है।
  •  Hairs ko Dry Rkhna-:  हेयर्स को टेल न लगाने की गलती अक्सर हम करते है जिसका खामयाजा हमने बालो को खो कर भुगतना पड़ता है। दोस्तों आज कल माहौल मॉडर्न है, हम चिपकू तो नही बन सकते पर हम बाल धोने से पहले तो आयल लगा सकते है ऐसा करने से हमारे बालो को मजबूती मिलती और आपकी हेयर फॉल की प्रॉब्लम सोल्व हो सकती है।
  • Smoking-: धूम्रपान भी बाल जड़ने का एक कारण है , पाया गया है 10 में से 7 smokers गंजेपन से ग्रस्त है। सिगरेट या भिड़ी  पीने से हमारे शरीर में निकोटिन जैसे खतरनाक chemicals प्रवेश कर जाते और हमारे बालो को बुरी तरह से हानी पहुंचाते है।  अगर आप भी स्मोकर है  तुरंत ही धूम्रपान को त्यागे आपको बालो की समस्या के साथ-साथ आप कही घातक बीमारियों से बच सकते है , कैंसर भी उनमे से एक है।
  • Enfection -: इंफेक्शन भी आपके गंजेपन का कारन हो सकता है।  इंफेक्शन बहुत ही प्रकार के हो सकते है जैसे फंगल इंफेक्शन और डैंड्रफ। अगर आपके सर में काफी लम्भे टाइम से डैंड्रफ है तो आपको सबसे पहले डैंड्रफ को दूर करना होगा तभी आप इस समस्या से पूरी तरह निजात पा सकते है।
  • Thyroid -: अगर आपको थाइरोइड है तो अधिक बाल जड़ने की समस्या हो सकती है।
  • Depression-: डिप्रेशन और तनाव भी  गंजेपन का एक मुख्या कारन हो सकता  है। तनाव को दूर करे और खुश रहे।

reason of hair fall in hindi हमने जान लिए चलो अब बात करते है “Hair fall solution in ayurveda in hindi”

बालों को अच्छे से

Also Read -: weight loss tips in hindi in one month-how to loss weight fast

Hair fall solution in ayurveda in hindi-:

दोस्तों market में बहुत सी हेयर फॉल को रोकने की दवाई और solutions है परन्तु वे बस आपके पैसे waste करते है और ज्यादा कुछ नहीं, हाँ ayurveda में बहुत से ऐसे प्रयोग है जो आपकी इस समस्या कुछ हद तक कम कर दे लेकिन अगर आप सही से अपने ऊपर लागु करे। तो चले जानते है Hair fall solution in ayurveda in hindi .

  • सरसो के आयल में मेहँदी मिला कर 10 मिनट तक पकाये और नहाने से पहले अच्छे से बालो पर लगाकर 15 मिनट बाद धोले लाभ मिले गा।
  • हरी सब्जियों व दही का नियमित रूप से  सेवन करे बहुत ही मदतगार साबित होगा आपके लिए।
  • आँवला शिकाकाई पावडर को रात में पानी में बिगो ले और शेम्पू की तरह इस्तेमाल करे काफी असरदार तरीका है आपके बालो को जड़ने से रोकने के लिए। आँवला शिकाकाई पावडर आपको पंसारी की दुकान से मिल जाये गा।
  • दही में सरसो का टेल मिला कर मालिश करे बाल मजबूत हो जायेगे।
  • शहद में अंडा मिलाकर लगाए बालो में शाइन भी आएगी और मजबूत भी हो जायेगे।
  • नीम की पत्तिया को पीसकर उनकी गोलिया बना लीजिये और हर रोज एक गोली ले डैंड्रफ दूर हो जाये गा।
  • एंटीडैंड्रफ शैम्पू का प्रयोग करे डैंड्रफ बाल जड़ने का बहुत ही भड़ा कारन है , कृप्या कर के अपने सर में डैंड्रफ ना होने दे।
  • बादाम रोगन का इस्तेमाल करे यह आपकी सर की थकान को भी दूर करे गा  साथ-साथ आपकी बालो की जड़ने की समस्या को भी जल्दी ही जड़ से खत्म  कर देगा।
  • ग्रीन टी  भी आपकी काफी मदद करे गी , आप  सिंपल चाय की जगह ग्रीन टी को ज्यादा महत्व दे।
  • तंबाकू और अन्य नशीले पदार्थों को त्याग करे  हेयर फॉल की समस्या खुद पे खुद दूर हो जाये गी।
  • नीम और बेर की पते खाने से हेयर फॉल को दूर किया जा सकता है।
  • हर रोज तेल से मालिश करे आपको बहुत लाभ मिले गा ,आपके बेजान बालो में जान आ जाये गी जिससे हेयर फॉल की प्रॉब्लम जीरो हो जाये गी।
  • हफ्ते में 2-3 बार नारियल तेल से मालिश करे बहुत ही कारगर तरीका है दोस्तों।
  •  शहद को बालो की जड़ो में लगाए मजबूती मिले गी।
  • जसवंत के लाल रंग के फूल बालों को मजबूती प्रधान करते है अगर सम्बव होता है तो आप जसवंत के फूल का प्रयोग कर  बालों का जड़ना रोकने के लिए इस्तेमाल में ला सकते है।
  • Vitamin E से युक्त ऑयल्स का प्रयोग करे, Vitamin E आपके लिए काफी लाभदायक है।
  • प्याज का रस का प्रयोग कर के भी आप अपने जड़ते बाल रोक सकते है।  आप प्याज को बारीक़-बारीक़ पिश ले और एक सूती कपड़े में दाल कर किसी बर्तन में निचोड़ ले और निकले हुए रस को बालो पर 1 दिन छोड़कर लगाए लाभ मिले गा।  आप प्याज के रस को 10 मिनट लगा कर रखे फिर धो ले।
  • बालों को झड़ने से रोकने के लिए आप लहसुन का प्रयोग करे , लहसुन में सल्फर काफी मात्रा में पाया जाता जाता है जो बालो के लिए अच्छा बताया जाता है।  आप हर रोज लहसुन की एक सिंगल पोथी को खाये मेरे कहने का मतलब एक लहसुन का पीस खाये लाभ मिले गा । अगर आप आप लहसुन को न चबा-चबा कर न खा पाए आप उसके छोटे पीस करके पानी के साथ भी निगल सकते है।

Also Read-Health banane ka tarika-Sehat banane ke tips in Hindi

आपके लिए कुछ और Hair fall solution in ayurveda in hindi

  • अगर आपके बाल सफेद है तो आप कलर की जगह नैचरल मेहँदी का प्रयोग करे और ध्यान रखे मेहँदी केमिकल वाली न हो।
  • साफ स्फाही रखे बालो को समय-समय पर धोते रहे।
  • बालों को अच्छे से ट्रिम करवाएं इससे दोमुंहे बालों की समस्या नहीं होये गी।
  • आंवले के मुरभे का नियमित सेवन करे बालो के लिए अच्छा है।
  • कंडीशनर का कम से कम से इस्तेमाल करे और हफ्ते में 4 से ज्यादा बार शैम्पू भी सही नही है।
  • निभू का जूस पिए और सर पर भी लगाए।
  • तुलसी और आंवले को पीसकर बालो पर लगाए।
  • खाने में सलाद का इस्तेमाल करे।
  • ककड़ी और खीरा अधिक खाये इसमें सल्फर अधिक मात्रा में होता है।
  • महीने में 2 बार तिलो के टेल की मालिश करे लाभ मिले गा।
  • चुकंदर का रस पिए बालो का जड़ना कम हो जाये गा।

आशा करता हु आपको Hair fall solution in ayurveda in hindi अच्छे से समज में आये होंगे। 

अगर आपको हमारी पोस्ट “Hair fall solution in ayurveda in hindi” अच्छी लगी है तो आप हमें निचे दिए गए column में अपना ईमेल भर के सब्सक्राइब कर सकते है।  हम आपको ऐसी ही लाभदायक जानकारियों से आवगत कराते रहेगे । अगर आपका  कोई Question है आप वो भी हमें कमेंट या ईमेल पर पूछ सकते है.  हमारा ईमेल पता है।    [email protected]

लगातार अपडेट रहने के लिए आप हमें फेसबुक पर like भी कर सकते है ।

  Like Achihealth Facebook Page 

 

2 Comments

Add a Comment
  1. nice articles keep it up bhai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Achihealth.in © 2018 . इस वेबसाइट पर दी गई सभी जानकारियां केवल शैक्षिक उद्देश्यों के लिये है। यहाँ पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी विशेषज्ञ या चिकित्सक की सलाह के बिना न करे।  किसी भी उपयोग के विपरीत प्रभाव होने पर achihealth.in या AchiHealth के लेखक की कोई जिम्मेवारी नही होगी।  Frontier Theme